KCC का 10% इसके लिए कर सकेंगे इस्तेमाल किसानों को मिलेगी राहत


भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने किसान क्रेडिट कार्ड पर लिए गए लोन में से 10 फीसदी रकम को घरेलू खर्च में इस्तेमाल करने की अनुमति दी है. RBI ने अपनी वेबसाइट पर जानकारी दी है.


कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के बीच सरकार ने किसानों को बड़ा तोहफा दिया है. लॉकडाउन से किसानों को रही परेशानी को देखते हुए सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) रखने वाले किसान इसका इस्तेमाल घर की जरूरतों को पूरा करने में कर सकते हैं. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने किसान क्रेडिट कार्ड पर लिए गए लोन में से 10 फीसदी रकम को घरेलू खर्च में इस्तेमाल करने की अनुमति दी है. RBI ने अपनी वेबसाइट पर जानकारी दी है.

कैसे मिलेगा किसान क्रेडिट कार्ड?


किसान क्रेडिट कार्ड के लिए अगर आवेदन करना है तो इसके लिए पीएम किसान सम्मान निधि में अकाउंट होना जरूरी है. सिर्फ वही ग्राहक सरकार की इस योजना का फायदा ले सकते हैं. इसके लिए आपको सबसे पहले ऑफिशियल साइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाना होगा. यहां किसान क्रेडिट कार्ड का फॉर्म डाउनलोड करें. इस फॉर्म को आपको अपनी भूमि के दस्तावेज, फसल की डिटेल के साथ भरना होगा. यह जानकारी भी देनी होगी कि आपने किसी अन्य बैंक या शाखा से कोई और किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बनवाया है. आवेदन भरकर सबमिट करें, जिसके बाद संबंधित बैंक से किसान क्रेडिट कार्ड आपको मिल जाएगा.



किन डॉक्यूमेंट की जरूरत

आईडी प्रूफ के लिए वोटर ID card/ PAN कार्ड/ पासपोर्ट/आधार कार्ड/ ड्राइविंग लाइसेंस चाहिए होंगे. वहीं एड्रेस प्रूफ के लिए वोटर ID card / पासपोर्ट/आधार कार्ड/ड्राइविंग लाइसेंस की जरूरत होगी.


जिनके पास पहले से किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) हैं


जिनके पास पहले से किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) हैं पीएम-किसान में पंजीकृत हितग्राही संबंधित बैंक से अथवा जन सेवा केंद्र में आवेदन कर आसानी से कृषि ऋण प्राप्त कर सकते हैं | केसीसी होने के बावजूद जो किसान ऋण नवीनीकृत नहीं कर पाते ऐसे किसान भी बैंकों से संपर्क कर नई राशि स्वीकृत कर सकते हैं | जिन किसानों का ऋण सीमा एक लाख साठ हजार रूपये है, एसे कृषकों को बिना किसी गारंटी के तत्काल ऋण की स्वीकृति दी जाए | केसीसी के माध्यम से उधानिकी, पशुपालन एवं मछलीपालन से जुड़े किसान भी आसानी से अल्पकालीन कृषि ऋण प्राप्त कर सकते हैं |
पीएम किसान में पंजीकृत कृषक की सूचि पोर्टल में उपलब्ध है | किसान के नाम एवं आधार नंबर से ग्रामवार केसीसी धारी कृषकों की सूचि तैयार किया जाएगा | केसीसी यदि निष्क्रिय है तो तत्काल संबंधित बैंक द्वारा एक्टिवेट किया जाना है | गैर केसीसी धारी कृषक का खाता जिस बैंक में है अथवा धान उपार्जन हेतु अपेक्स बैंक डीसीसीबी में खाता संधारित होने पर उक्त बैंक शिविर में केसीसी जारी करें | शिविर के पूर्व पटवारी, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, पंचायत सचिव डोर टू डोर कृषकों से संपर्क स्थापित कर किसान सम्मान निधि में पंजीकृत कृषक से आवेदन पत्र प्राप्त करेंगे |


Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post